fbpx
Mon. Dec 17th, 2018

लखन‌ऊ : दलित उद्यमियों के सामान की मार्केटिंग करेगी सरकार- सत्यदेव पचौरी

दलित समाज उद्योगों को लगाये, विभाग हर संभव मदद को तैयार- सत्यदेव पचौरी
लखनऊ। प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी ने दलित उद्यमियों के एक दिवसीय सेमिनार में कहा कि दलितों और पिछड़ों के उत्थान के लिए देश और प्रदेश की सरकारें एक से बढ़कर एक योजनाएं चला रही हैं। श्री पचौरी ने कहा कि एक जिला, एक उत्पाद, कॉमन फैसीलिटी सेन्टर, व विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजनाएं शीघ्र ही शुरू की जा रही हैं। श्री पचौरी ने कहा कि इन योजनाओं में लाभ लेने वाले दलित उद्यमियों के सामानों की मारर्केंिटंग भी सरकार करेगी। श्री पचौरी ने कहा कि दलित समाज के लोग उद्योगों के लिए आगे बढ़े, उनका विभाग हर संभव मदद को तैयार है।
गोमती नगर के इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में डिक्की नार्थ के तत्वाधान में आयोजित एक दिवसीय एस.सी, एस.टी उद्यमी सेमिनार में प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी ने बतौर मुख्य अतिथि कहा कि प्रदेश की योगी सरकार कॉमन फैसिलिटी सेन्टर के तहत अनुदान दिया जायेगा, जिसकी अधिकतम कीमत 15 करोड़ रूपये होगी, बशर्ते जमीन स्वयं की होना चाहिए। इसके अलावा इन उद्यमियों के द्वारा उत्पादित किये गये समानों की मार्केटिंग भी सरकार करेगी, वहीं विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना भी जल्द ही शुरू की जायेगी, जिसमें लाभार्थी को फ्री टूल किट दी जायेगी। उन्होंने कहा कि आगरा में शीघ्र ही कुरील समाज के लिए बेहतर कार्य करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उद्योगों के लिए बैंकों से अनुदान लेने वाले लाभार्थियों का ब्याज भी सरकार देगी। श्री पचौरी ने कहा कि दलित उद्यमियों की समस्याओं को दूर करने के लिए सीएम से वार्ता करेंगंे, साथ ही सप्लाई में भी आरक्षण की कोशिश करेंगें, इसके लिए दूसरे राज्यों से ब्यौरा जुटाया जायेगा, आवश्यक होगा तो कैबिनेट में प्रस्ताव लाया जायेगा। श्री पचौरी ने कहा कि डिक्की नार्थ के चेयरमैन आर.के. सिंह को आश्वस्त किया कि जो भी दिक्कतें आयंेगी, उनकों दूर करने का प्रयास किया जायेगा। श्री पचौरी ने महिला उद्योगपति श्रीमती बीना सिंह व श्रीमती लक्ष्मी की तारीफ करते हुये कहा कि डिक्की परिवार में महिला उद्योगपतियों की संख्या और बढ़नी चाहिए। वहीं कार्यक्रम में श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि दलित समाज हमेशा से दबा-कुचला समाज रहा है, उन्होंने कहा कि डिक्की नार्थ का यह आयोजन काबिल-ए- तारीफ है, उन्होंने कहा कि दलितों के हित के लिए प्राइवेटाइजेशन में भी आरक्षण की आवश्यकता है, दूसरे राज्यों में ठेकेदारी में छूट है, व प्रावेट सेक्टर के अन्य कामों में भी इस वर्ग को छूट है, हम लोग भी बाकी राज्यों से ब्यौरा एकत्र कर, मुख्यमंत्री के सामने रखेगें। श्री मौर्या ने कहा कि सरकार का नारा है सबका साथ, सबका विकास और इस विकास में डिक्की नार्थ के उद्योगपति भी शामिल हैं। वहीं कार्यक्रम में डिक्की नार्थ के चेयरमैन आर.के. सिंह ने कार्यक्रम में आये मुख्य अतिथि व विशिष्ठ अतिथि के समक्ष अपनी मांगों को भी रखा, जिस पर दोनों मंत्रियों समस्याओं का शीघ्र समाधान होने का आश्वासन भी दिया। वहीं विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले उद्योगपतियों को मुख्यअतिथि ने स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया,जिनमें सुभाष सिंह ग्रोवर, विपिन कुमार, डिक्की नार्थ के चेयरमैन आर.के. सिंह, श्रीमती बीना सिंह, श्रीमती लक्ष्मी व अशोक कुमार सहित अन्य उद्योगपति थे।
दलित उद्यमियों की प्रमुख मांगे
डिक्की (नार्थ) के चेयमैन आर.के. सिंह ने कार्यक्रम में उपस्थित मंत्रियों के समक्ष 16 सूत्रीय मांगे रखी, जिनमें एस.एसटी के उद्यमियों को ऑर्नेस्ट मनी में छूट दी जाये। कार्यादेश होने के बाद जो बैंक गारण्टी दी जा रही है, उसमें 1 प्रतिशत एससी व एसटी के लोगों की मान्य हो, एससी, एसटी के उद्योगपतियों को औद्योगिक क्षेत्रों में भूखण्डों पर 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जाये। इसके साथ ही उप्र की छोटी औद्योगिक इकाईयों से राज्य की खरीद का 50 प्रतिशत स्टेट की यूनिटो से क्रय किया जाये व उप्र सरकार द्वारा प्रस्तावित नई उद्योग नीति के निर्धारण करने वाली समिति में डिक्की नार्थ के अध्यक्ष अथवा अध्यक्ष द्वारा नामित उद्यमी को सदस्य नामित करने जैसी प्रमुख मांगें शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *