fbpx

कैंसर से लंबी लड़ाई के बाद गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का निधन

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का निधन हो चुका है. कैंसर से लंबी लड़ाई के बाद 63 साल की उम्र में पूर्व रक्षा मंत्री ने अंतिम सांस ली. पर्रिकर लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे. वह पैनक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे थे. राष्‍ट्रपति ने ट्वीट कर उनके निधन की जानकारी दी. Extremely sorry to hear of the passing of Shri Manohar Parrikar, Chief Minister of Goa, after an illness borne with fortitude and dignity. An epitome of integrity and dedication in public life, his service to the people of Goa and of India will not be forgotten #PresidentKovind — President of India (@rashtrapatibhvn) March 17, 2019 गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर काफी समय से बीमार चल रहे थे. वहीं अब उनकी निधन के खबर के बाद सरकार के वरिष्ठ अधिकारी और राजनीतिक नेता उनके आवास डोना पौला पहुंचने शुरू हो गए हैं. मुख्यमंत्री के निजी आवास पर सबसे पहले पहुंचने वालों में राज्य के पुलिस महानिदेशक प्रणब नंदा हैं. उनके घर के आसपास पुलिस की मौजूदगी बढ़ा दी गई है. पूर्व रक्षा मंत्री पर्रिकर के स्वास्थ्य में पिछले एक साल से उतार-चढ़ाव होता रहा है. बीते दो दिन से उनकी हालत बेहद खराब हो गई थी. मनोहर पर्रिकर का जन्म मापुसा में गोपालकृष्णा और राधाबाई के घर हुआ था. इनका पूरा नाम मनोहर गोपालकृष्णा प्रभू पर्रिकर था. पर्रिकर का एक और भाई अवधूत पर्रिकर भी है. पर्रिकर ने शुरुआती पढ़ाई मार्गो के स्कूल से की. सैकंड्री हायर एजूकेशन मराठी मीडियम में की. 1978 में बॉम्बे IIT से metallurgical इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट हुए. आईआईटी से पढ़ाई पूरी करने के दौरान ही मनोहर पर्रिकर ने यह तय किया था कि वे मशीनों के बीच उलझने के बजाए सामाजिक क्षेत्र में काम करेंगे. साल 1981 में मेधा पर्रिकर से शादी की. पर्रिकर के दो बेटे हुए. एक उत्पल और दूसरा अभिजात पर्रिकर. उत्पल ने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में यूएस की Michigan स्टेट यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट है. अभिजात बिजनेसमैन हैं.