पुलिस हिरासत में थर्ड डिग्री देने की वजह से युवक की हुई मौत, एक दूसरे को बचाते दिखे अधिकारी

आगरा। ताजनगरी में पुलिस का बेरहम चेहरा सामने आया है। यहां एक युवक जो मजदूरी कर अपनी मां का ख्याल रखता था, उसकी पुलिस हिरासत में मौत हो गई है। आला अधिकारी मामले में जांच के बाद जवाब देने की बात कह कर कैमरे के सामने आने से कतरा रहे हैं। युवक की मां रो-रोकर पुलिस पर बेटे को मारने का आरोप लगा रही है। जानकारी के अनुसार पड़ोसी द्वारा चोरी का आरोप लगाने पर पुलिस मृतक और उसकी मां को उठाकर थाने ले गई थी और थर्ड डिग्री में युवक की मौत हो गई है।

मूल रूप से मथुरा के रहने वाले राजू पिता की मृत्यु के बाद आगरा के थाना सिकन्दरा अंतर्गत गैलाना में किराए का मकान लेकर रहता था। राजू एक फैक्ट्री में काम कर अपना और मां का भरन पोषण करता था। बीती 17 तारीख को पड़ोस के रहने वाले कैमिकल कारोबारी आयुष के यहां 21 तोला सोना चोरी हुआ था। आयुष ने पड़ोसी राजू अग्रवाल पर आरोप लगाया था। इसके बाद गुरुवार शाम राजू को सिकन्दरा पुलिस उठा ले गई और सुबह उसकी मां को भी ले जाकर थाने बिठा दिया। राजू को थाने में थर्ड डिग्री दी गई और वो पुलिसिया जुल्म नहीं झेल पाया। जब उसकी तबियत बिगड़ी तो मां को वहां से समझाकर घर भेज दिया गया। इधर राजू को निजी अस्पताल और फिर एसएन लाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

काफी समय तक इसकी सूचना मृतक की मां को नहीं दी गई और जब मां को जानकारी हुई तो वो रोने लगी।

फिलहाल एसएसपी अमित पाठक ने मामले की जांच एसपी ग्रामीण को सौंपी है। सभी अधिकारी जांच के बाद बयान देने की बात कहकर घटना का ठीकरा अपने सर लेने से कतरा रहे हैं। वहीं सूत्रों की माने तो एसएसपी के सबसे खास इंस्पेक्टर में शुमार सिकन्दरा थाना प्रभारी अजय कौशल को क्लीन चिट मिलना तय है और बाकी की कार्रवाई भी कमजोर कड़ी मानी जा रही है। एएसपी अभिषेक कुमार घटना में पुलिस को बचाते हुए जांच की बात कह रहे हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.