fbpx

जंतर मंतर पर AAP की मेगा रैली आज, ममता बनर्जी करेंगी रैली को संबोधित

 लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा के खिलाफ एक और महारैली में विपक्षी नेता बुधवार को जंतर मंतर पर जमा होंगे और विभिन्न मुद्दों पर मोदी सरकार को घरेंगे.  दिल्ली की आप सरकार के मुखिया और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व में बुधवार को दिल्ली में जंतर मंतर पर इस महा रैली का आयोजन किया जा रहा हैं| पिछले महीने कोलकाता में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की महागठबंधन की रैली के बाद केजरीवाल समूचे विपक्ष कप एक मंच पर लाने की कवायद में हैं|

लोकसभा चुनाव 2019 में तीन महीने से भी कम का समय शेष है, ऐसे में भाजपा नीत केंद्र सरकार के खिलाफ महागठबंधन अपना स्वरूप लेता दिखाई दे रहा है।  इसमें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के साथ आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू प्रमुख वक्ता होंगे। यह अलग बात है कि रैली के बाबत AAP ने उन सभी विपक्षी नेताओं को निमंत्रण भेजा है, जो पिछले महीने तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष बनर्जी की ओर से आयोजित की गई भाजपा विरोधी रैली में शिरकत करने आए थे। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में बहुत कम समय बचा है, ऐसे में यह मेला रैली राष्ट्रीय प्रजातांत्रिक गठबंधन (NDA) के सहयोगियों को चुनौती देने के लिए एक महागठबंधन बनाने के लिए विपक्षी नेताओं को साथ लाएगी।

ममता बनर्जी करेंगी रैली को संबोधित
जंतर मंतर पर विपक्ष की रैली में हिस्सा लेने के लिए मंगलवार की रात ममता बनर्जी दिल्ली पहुंच गई हैं। बनर्जी आज जंतर मंतर पर आप द्वारा आयोजित ‘तानाशाही हटाओ, देश बचाओ रैली को संबोधित करेंगी। सूत्रों ने बताया कि इसके बाद वह संसद भवन में तृणमूल कांग्रेस के कार्यालय जाएंगी, जहां वह अपनी पार्टी तथा दूसरे दलों के सांसदों से मुलाकात करेंगी।

ममता बनर्जी शहर में एक सरकारी कार्यक्रम में भी शिरकत करेंगी। इस कार्यक्रम का विवरण अभी साझा नहीं किया गया है। कोलकाता में पार्टी के एक नेता के मुताबिक बृहस्पतिवार तक दिल्ली में उनके रहने की संभावना है। पार्टी के नेता ने कहा, ”कार्यक्रम के मुताबिक बनर्जी 12 फरवरी को नयी दिल्ली के लिए रवाना होंगी और वह 13 फरवरी को ‘आप द्वारा आहूत विपक्षी रैली में शिरकत करेंगी। वह विपक्षी दलों के विभिन्न नेताओं से मुलाकात करेंगी।

दिल्ली सरकार में मंत्री राय ने कहा कि राहुल गाँधी को भी निमंत्रण भेजा गया है| आम आदमी पार्टी ने उन सभी विपक्षी नेताओं को निमंत्रण भेजा है जो पिछले महीने तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष बनर्जी की ओर से आयोजित की गई बीजेपी विरोधी रैली में आए थे|
लोकसभा चुनावों के नजदीक आते आते जहा पीएम नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर हमले तेज कर दिए है | वही विपक्ष भी अपनी और से पुरजोर कोशिश में जुट गया है | ऐसे में विपक्ष को महागठबंधन समय के लिहाज से सबसे सही विकल्प लग रहा हैं|

इससे पहले मंगलवार को एक अप्रत्याशित घटनाक्रम में विपक्षी दलों की एकता एक बार और देखने को मिली. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव को राज्य की भाजपा सरकार ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के एक कार्यक्रम में शामिल होने से रोक दिया. इस मामले को समाजवादी पार्टी ने जोरशोर से उठाया. इसकी गूंज संसद में भी सुनाई दी और देशभर के विपक्षी दलों के नेताओं ने भाजपा सरकार के इस कदम की निंदा की.

मेगा रैली के मद्देनजर दिल्ली के विभिन्न स्थानों, खासकर रैली स्थल जंतर मंतर पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पोस्टर-बैनर लगाए गए हैं। इन पोस्टरों में लोगों से रैली में शामिल होने की अपील की गई है।

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.