fbpx
Advertisements

आशा कार्यकर्ताओं का अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी

 


इलाज के लिए पहुँचे मरीजों को बिना इलाज के वापस

स्वास्थ्य मंत्री के गृह जिला में ब्यवस्था लचर

बिहार में गरीबो की सरकार है साथ ही विकास की गंगा बहेगी का नारा देकर नीतीश की सरकार सता में आयी। परंतु सिवान जिले के महराजगंज के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के क्षेत्र में भी सुधार का नाम नही ले रहा है। क्या यही विकास है की गारीब मरीजो को सरकारी हॉस्पिटल में इलाज सही ढंग से नही मिल रहा है। 
बिहार के महाराजगंज में आशा कार्यकर्ताओं एवं स्वास्थ्य कर्मियों का अनिश्चिकालीन हड़ताल जारी रहा। आशा कार्यकर्ताओं के द्वारा अपनी मांगों को लेकर महाराजगंज पीएचसी में आशा कार्यकर्ताओं ने अपने कार्यकाल को बाधित कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए।आशा कार्यकर्ताओं ने अनिश्चितकालीन हड़ताल कर पीएचसी में हो रहे कामकाज को प्रति दिन पूरी तरह ठप करते हुए मुख्य द्वार को जाम कर घंटो प्रदर्शन कर रहे है। जिससे पीएचसी में इलाज कराने पहुंचे आम मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।साथ ही बिना इलाज कराय वापस होना पर रहा है।

 धरना पर बैठी आशा कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को लेकर कहाँ की केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार हमारी मांगे जब तक पूरी नहीं करती है तब तक उनका अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगा। इस दौरान आशा कार्यकर्ताओं ने सरकार व विभाग दोनों के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी किया।आशा संघर्ष समिति के कार्यकर्ताओं के द्वारा अपनी मांग पत्र में आशा कार्यकर्ताओं को सरकारी सेवक घोषित करने की मांग की तथा न्यूनतम अवैधानिक वेतन 18 हजार रुपये प्रति माह का भुगतान करने की सरकार से मांग की, आशा कार्यकर्ताओं ने छह माह का कंडेंस कोर्स का प्रशिक्षण देकर एएनएम के पद पर नियुक्ति की भी मांग किया है। आशा कार्यकर्ताओं व कर्मियों के कार्यकाल बाधित करने से पुरा पीएचसी स्वास्थ्य सेवा पूरी तरह से चरमरा गई। इस दौरान आशा कार्यकर्ता को पी एच सी प्रभारी राजेश कुमार द्वारा चेतवनी दी गई की काम को प्रभावित नही करे। नही तो आप लोगो पर कठोर करवाई होगी। इस चेतावनी का असर आशा कर्मियो पर नही पर रहा है ।जिसके चलते गारीब मरीजो पर आथिर्क असर पर रहा है। इस आशा के हड़ताल से मरीजो को निजी किल्निक की ओर रुख करना पर रहा है। सिवान जिले के हर हॉस्पिटल में आशा की हड़ताल सें स्वास्थ्य ब्यवस्था चरमरा गई है फिर भी स्वास्थ्य मंत्री के कानो पर जू तक नही रेग्ं रही है

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: