fbpx

मोदी सरकार लगाएगी पांच बड़े एप्स पर रोक

बीजेपी सांसद राजीव चंद्रशेखर ने TikTok, Kwai, LiveMe, LIKE, Helo, Welike जैसे ऐप पर बैन लगाने की मांग की है. उन्होंने आईटी मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद को इस मामले में एक खत भी लिखा है. उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि इन ऐप को भारत में तुरंत बंद कर देना चाहिए क्योंकि इससे बच्चों का भविष्य खराब हो रहा है. इन ऐप्स पर अश्लील वीडियो और कंटेंट परोस जा रहे हैं.

Social media ruining mental and physical health of majority of kids. Security measures to be taken by government.
Social media ruining mental and physical health of majority of kids. Security measures to be taken by government.

सोशल मीडिया(social media ) पर इन दिनों बच्चों से लेकर युवा सभी मोबाइल एप्स का इस्तेमाल कर एक से बढ़कर एप्स बनाते हैं. हालांकि इन एप्स के कुछ साइडइफेक्ट्स भी हैं, जिसके जरिए बच्चों के सामने अश्लीलता परोसी जा रही है. इन दिनों भारत में TikTok, Kwai, LiveMe, LIKE, Helo, Welike जैसे ऐप मशहूर हैं और इन्हीं के जरिए अश्लीलता भी परोसी जा रही है. साथ ही इन ऐप्स की लत से लोगों की हेल्थ और पर्सनल लाइफ पर भी असर पड़ रहा है. अब इन एप्स में परोसी जा रही अश्लीलता की बात मोदी सरकार तक पहुंच चुकी है और माना जा रहा है कि इन एप्स पर बड़ी कार्रवाई भी हो सकती है.

ऑफिस में गलत तरीके से बैठने से हो सकती हैं ये परेशानियां

चंद्रशेखर के मुताबिक भारत में 44.4 फीसदी बच्चे हैं और इन ऐप्स से उनके भविष्य को खतरा है लेकिन आईटी मंत्रालय का इस ओर ध्यान नहीं है. एक रिपोर्ट के मुताबिक साल 2017 में भारत में 2.4 मिलियन ऑनलाइन चाइल्ड सेक्सुअल की शिकायतें दर्ज हुई हैं.

इन ऐप पर यूजर्स आसानी से छोटे-छोटे वीडियो बना रहे हैं, उसमें गाने डाल रहे हैं. कई ऐप्स में के जरिए बच्चे किसी भी वीडियो में अपनी आवाज डाल कर गालियां भी रिकॉर्ड कर रहे हैं. सिर्फ TikTok के ही भारत में 2 लाख मंथली एक्टिव यूजर्स हैं. इन ऐप्स पर 13 से 19 साल के बीच के युवा लड़के-लड़की किसी गाने पर लिप सिंकिंग करके शॉर्ट वीडियो बनाने के ट्रेंड को काफी पसंद कर रहे हैं. यहां एक और बात गौर करने वाली यह है कि कहने के लिए तो इस तरह के ऐप लोकल हैं लेकिन इनकी प्राइवेसी पॉलिसी या तो चाइनीज में है या फिर अंग्रेजी में, जिससे ये सुरक्षा के लिए भी खतरा हैं.

अब आधार से अपना बैंक अकाउंट लिंक करना जरुरी नही !

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.