fbpx

बुलंदशहर हिंसा: इस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर कुल्हाड़ी से हमला करने वाले कलुआ को पुलिस ने दबोचा

 

 

बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahar Violence) के 28 दिन बाद इस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (Subodh Kumar Singh)पर कुल्हाड़ी से हमला करने वाले कलुआ उर्फ राजीव को पुलिस ने सोमवार देर रात गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक कलुआ ने ही सबसे पहले सुबोध कुमार सिंह पर हमला किया था.

आरोपी कलुआ ने पहले इंस्पेक्टर की अंगुलियां काटी फिर कुल्हाड़ी से ही सिर पर कई वार कर दिए. इस हमले में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह बुरी तरह घायल हो गए. जख्मी हालत में इंस्पेक्टर जान बचाने खेतों की तरफ भागे तो प्रशांत नट ने उन्हें पकड़कर घुटनों के बल गिरा लिया. इसके बाद नट ने इंस्पेक्टर की ही लाइसेंसी रिवॉल्वर छीनकर उन्हें गोली मार दी.बाद में प्रशांत नट ने अपने साथियों के साथ मिलकर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के शव को उनकी ही सरकारी गाड़ी में डाल कर जलाने की कोशिश की.

बता दें, हिंसा के 25 दिन बाद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के हत्यारे प्रशांत नट को गिरफ्तार किया गया था. इंस्पेक्टर पर गोली चलाने का आरोप नट पर ही है. वहीं, रिवॉल्वर चुराने वाले की भी पहचान हो गई है और उसकी तलाश जारी है.

बीजेपी के सहयोगी राजभर ने साधा सीएम योगी पर निशाना

बीजेपी की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने बुलंदशहर हिंसा को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा है कि उनके लोग दंगा भडका रहे हैं जबकि वह शांति का प्रयास कर रहे हैं।उन्होंने बुलन्दशहर कांड की एसआईटी जांच को लेकर भी सवाल खड़े किये और कहा कि एसआईटी क्या जांच करेगी, पता नहीं?

 

यूपी पुलिस का कहना है कि जिस पिस्तौल से सुबोध की हत्या हुई, वह उनकी लाइसेंसी बंदूक थी जिसे नट ने छीनकर उन्हें गोली मार दी थी। शनिवार को पुलिस ने मीडिया के सामने एक ऐसे ‘चश्मदीद गवाह’ को पेश किया, जिसने इंस्‍पेक्‍टर पर नट को गोली चलाते देखने का दावा किया है। पुलिस अपने पास ऐसा विडियो होने का दावा कर रही है, जिसमें नट इंस्पेक्टर से बहस करता नजर आता है। हालांकि ऐसा कोई विडियो सामने नहीं आया है जिसमें फायरिंग की घटना रिकॉर्ड हुई हो।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.