fbpx

जम्मू-कश्मीर : शोपियां में आतंकियों से चल रही मुठभेड़, पाकिस्तान ने अब उरी सेक्टर में भी की गोलीबारी

आतंकी कैंपों पर हमले से बौखलाया पाकिस्तान अब लगातार सीजफायर पर उतर आया है. जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले के मेमंदर में बुधवार की सुबह आतंकियों से सेना की मुठभेड़ हो रही है. फायरिंग रुकने के बाद सेना सर्च ऑपरेशन कर रही है. कार्रवाई के दौरान की कई तस्वीरें सामने आईं हैं. उधर, पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया है. इस बार पाकिस्तानी सेना ने उरी सेक्टर में संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए सुबह फायरिंग की है. विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा है.  उधर, पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया है. इस बार पाकिस्तानी सेना ने उरी सेक्टर में संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए सुबह फायरिंग की है. विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा है. इससे पहले भारतीय सेना ने सीमापार से पाकिस्तानी गोलाबारीका करारा जवाब देते हुए जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा के उस पार स्थित पाकिस्तान की पांच चौकियां ध्वस्त कर दी. इस कार्रवाई में कई पाकिस्तानी सैनिक ‘हताहत’ हुए हैं. एक रक्षा अधिकारी ने यह जानकारी दी. एक रक्षा पीआरओ ने कहा, ‘भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की और हमारी लक्षित गोलीबारी में पांच चौकियों को गंभीर नुकसान पहुंचा और (राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा से लगे क्षेत्र में) पाकिस्तानी सेना के कई जवान हताहत हुए.’

रजौरी में लाइन ऑफ कंट्रोल से लगे 5 किलोमीटर तक के इलाकों के स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया गया और इस दौरान सारी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं. यह जानकारी रजौरी के एक सरकारी अधिकारी ने दी है.

बता दें, पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए उनकी कमर तोड़ दी है. पीओके के आतंकी कैंप पर (Air strike on Terrorist Camp) भारतीय वायुसेना (indian air force) ने हवाई हमला किया और उसके सारे कैंपों को तबाह कर दिया. वायुसेना की इस बड़ी कार्रवाई में करीब 300 आतंकवादी मारे गए हैं और इसमें जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर का बहनोई यूसुफ अज़हर भी मारा गया है जो यह कैंप चला रहा था. भारतीय वायुसेना को इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम देने में 12 मिराज फाइटर जेट का सहारा लेना पड़ा. इतना ही नहीं, करीब 1000 किलो बम भी बरसाए गए. बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे, जिसकी जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी.

एयरफोर्स ने एलओसी के पार जाकर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों पर 1000 किलो के बम गिराये हैं. जानकारी के मुताबिक तड़के 3 बजे चलाए गए ऑपरेशन में एयरफोर्स के 12 मिराज फाइटर प्लेन शामिल थे. इंडियन एयरफोर्स के बेड़े में शामिल मिराज- 2000 (Mirage 2000) डीप पेनिट्रेशन स्ट्राइक एयरक्राफ्ट यानी लड़ाकू विमान है. यह अंदर तक घुसकर मार करने वाला विमान है और इसकी खास बात यह है कि ये भीतर तक जाकर टारगेट को ध्वस्त करने की क्षमता रखता है. पिछले हफ्ते पोखरण में हुए वायुशक्ति में मिराज ने अपनी ताकत दिखाई थी. उसे जो भी लक्ष्य दिया गया उसको तबाह कर दिया था.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.