दिल्ली में फिर से जुटे किसान, मांगें पूरी करने के लिए निकाली २६ की.मी रैली

आज एक बार फिर अपनी मांग पूरी करने के लिए हज़ारो किसान सड़क पर उतर आये हैं. यह आंदोलन दो दिन का होगा; २९ और ३० नवंबर . आपको बता दें की यह आंदोलन २०० किसान संघठनो ने मिलकर आयोजित किया है. किसानो की मांग है की उन्हें पूरी तरह से कर्ज़ों से मुक्ति मिल जाये और कृषि उत्पाद लागत का डेढ़ गुना मुआवज़ा उन्हें मिले.
सूत्रों के मुताबिक किसान २९ नवंबर की सुबह बिजवासन से २६किलोमीटर पैदल यात्रा करते हुए शाम को रामलीला ग्राउंड पहुचेंगे और ३० नवंबर को मार्च करते हुए सांसद की ओर बढ़ेंगे .
गुरुवार को स्वराज इंडिया और जय किसान आंदोलन से जुड़े करीब पांच हजार किसान बाहरी दिल्ली के बिजवासन से सुबह आठ बजे से रामलीला मैदान के लिए पैदल मार्च करेंगे. किसानों का 26 किलोमीटर लंबा यह पैदल मार्च किसान स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष और किसान नेता योगेन्द्र यादव के नेतृत्व में होगा. सांसद की ओर बढ़ने से पहले गुरूवार को सुबह दिल्ली के प्रवेश मार्गों से रामलीला मैदान तक किसान मार्च के लिए बिजवासन , मजनू का टीला , निजामुद्दीन , आनंद विहार पर सभी किसान एकत्रित होंगे. किसानों के साथ इस बार खेत के मज़दूर भी इस रैली में शामिल हैं.
किसानो को दिल्ली पुलिस ने रामलीला ग्राउंड तक आने की परमिशन दी है. उसके आगे मार्च ले जाने के लिए पुलिस के आला अधिकारीयों से बातचीत हो रही है.

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.