fbpx
Advertisements

राजधानी लखनऊ में अब हाई-टेक वेश्यावृत्ति

लखनऊ (मोजेस न्यूज़) प्राचीन काल के वेश्यावृत्ति के तरीकों के बदलाव के बाद अब जिस्मफरोशी के धन्धों में एक अलग परिवर्तन देखने को मिल रहा है। कोठों से मसाज पार्लर तक के सफर में बहुत बङा परिवर्तन देखने में आया है। अब सभ्य समाज के लोग भी इस धन्धे में मसाज पार्लर के जरिए उतर आये है । आज इन्टरनेट के जरिए राजधानी में तमाम सैक्स रैकेट चल रहे है। एक फोन लगाइये व्हाट्सऐप पर तुरन्त खूबसूरत युवतियों की तस्वीरें सामने आ जायेंगी। इन खूबसूरत युवतियों की एक रात की कीमत बीस हजार से लेकर तीस हजार रुपये तक होती है। इसमें विदेशी युवतियां भी शामिल हैं ।

विदेशी युवतियां टूरिस्ट वीजा पर भारत आती है और यहां जिस्मफरोशी के जरिए मोटी रकम कमा कर वापस अपने देश लौट जाती है।

sex-rackets-in-lucknow

लखनऊ के होटलों में जिस्मफरोशी का चलता धंधा

लखनऊ के तमाम होटल इसी धन्धे से फल-फूल रहे है। राजधानी में कुकुरमुत्तों की तरह खुल रहे मसाज पार्लर इस बात का सबूत है की अब कोठों पर नहीं बल्कि मसाज पार्लर में जिस्म आसानी से उपलब्ध हो जाता है।मसाज पार्लर में आखिरी सर्विस जिस्म की ही होती है जो स्पेशल सर्विस कहलाती है। इस स्पेशल सर्विस के बदले आठ हजार से लेकर दस हजार रूपये तक कीमत चुकाई जाती है।

लखनऊ में चल रहे सैकड़ों सेक्स रैकेट्स

राजधानी में सैकङो की संख्या में अब मसाज पार्लर खुल गये है। जिनका धन्धा सिर्फ जिस्मफरोशी का ही है।एस्कार्ट सर्विस के नाम पर राजधानी में सैकङो सैक्स रैकेट चलते है जो सभ्य समाज के लोगों को रात के अंधेरे में उनकी हवस की आग बुझाने का कार्य करते है।

पुलिस इस बारे में जानती तो सब कुछ है मगर ऊपरी पहुंच के चलते ये सैक्स रैकेट संचालक आसानी से बच जाते है। पूर्व में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रहीं मंजिल सैनी ने हुसैन गंज स्थित एक मसाज पार्लर पर छापा मारकर संचालक समेत कई युवक युवतियों को आपत्ति जनक स्थिति में पकङा था। संचालक सफेदपोश था इसलिए आसानी से बच गया मगर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक का तबादला जरूर हो गया ।
अगर जल्दी ही इस धन्धे पर लगाम नहीं लगाई गई तो वो दिन दूर नहीं जब गली गली में मसाज पार्लर के जरिए वेश्यावृत्ति का धन्धा पनप जायेगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: