fbpx
Advertisements

लखनऊ : सोशल मीडिया पर बदनाम करने का बङता प्रचलन।

सोशल मीडिया ने जहां देश में क्रांति का संचालन किया है वही इसके दुरूपयोग ने भी मनुष्य के जीवन में जहर घोल दिया है। सोशल साइट फेसबुक इसका ज्यादा जरिया बन रही है। वैसे पुलिस ने साइबर क्राइम से सम्बंधित एक विभाग अलग बनाया है मगर उस विभाग को भी भ्रष्टाचार की लत पङ गई ।।

लखनऊ के आलमबाग निवासी एक युवती सपना ( काल्पनिक नाम) ने कुछ समय पूर्व मेट्रीमोनियल साइट पर अपनी शादी से सम्बंधित डिटेल डाली थी। कुछ समय बाद जिला कन्नौज से अभय प्रताप भदौरिया नामक युवक ने सपना से सम्पर्क किया।सपना की माने तो अभय प्रताप ने उससे शादी का प्रस्ताव रखा। मगर सपना को अभय प्रताप एक आंख न सुहाया ।सपना ने अभय से तुरन्त शादी से इन्कार कर दिया। सपना ने शादी से इन्कार क्या किया अभय ने सोशल साइट्स फेसबुक पर सपना के खिलाफ लिखने लगा। अभय ने सपना के खिलाफ उसके परिजनों की पोस्ट पर भी अश्लीलता भरे मैसेज डाल दिये गए । ये सिलसिला लगभग दो माह तक चलता रहा।जब बात सर के ऊपर से निकलने लगी तब सपना ने अभय के खिलाफ पुलिस में जाने के लिए सोचा।

सपना ने इसके लिए लखनऊ स्थित थाना हजरतगंज में साइबर सेल में एक तहरीर दी।मगर साइबर क्राइम के अधिकारियों ने सपना से अपने क्षेत्रीय थाने में एफआईआर दर्ज कराने के लिए बोला।
सपना पहले आलमबाग थाना गई जहां मामला दूसरे थाना ले जाने के लिये बोला।जब सपना कृष्णा नगर थाना पहुंची जहां के इन्चार्ज ने भी सपना को टरका दिया और बाद मे आने के लिए कहा । जिसकी शिकायत सपना ने सम्बन्धित अधिकारी से भी की मगर कोई हल नहीं निकला।
बङा सवाल ये भी है की आखिर एक पीङिता को क्यों नहीं इस सरकार में न्याय मिल रहा।

योगी की सरकार में जहां बहु बेटियो की इज्जत से खिलवाड़ हो रहा है।आखिर कब पुलिस की आंखों से काला चश्मा उतरेगा।। ।।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: