fbpx

ट्रेन में पत्थरबाज बताकर शॉल बेचने वाले दो कश्मीरियों कि की पिटाई

कश्मीर से शॉल बेचने आए दो युवकों के साथ कुछ लोगों ने चलती ट्रेन में मारपीट की. युवकों का आरोप है कि मंगोलपुरी के पास कुछ लोगों ने उन्हे पत्थरबाज कहकर पीटा. डरकर वह नांगलोई रेलवे स्टेशन पर उतर गए. अपने परिचित विधायक की मदद से कम्युनिस्ट पार्टी की नेता वृंदा करात से मिले.

उसके बाद पीड़ित पुलिस के पास पहुंचे। रेलवे पुलिस उपायुक्त दिनेश कुमार गुप्ता ने बताया कि पीड़ित युवकों की शिकायत पर पुलिस मामला दर्ज कर आरोपियों की पहचान की जा रही है।

इस बारे में पुलिस उपायुक्त (रेलवे) दिनेश गुप्ता ने बताया कि हरियाणा के सांपला जाने के लिए शॉल बेचने वाले तीन कश्मीरी युवक एक लोकल ट्रेन में सवार हुए थे. इसी दौरान कुछ युवकों ने उन्हें गंदी गालियां देना शुरू कर दी.

कश्मीरी युवकों ने आपत्ति जताई तो आरोपियों ने उन्हें पत्थरबाज कहा और गाली देकर थप्पड़ मारे. हमलावरों ने कहा कि कश्मीर में तुम लोग पत्थर फेंकते हो और भारत में रोजी रोटी कमाने के लिए आते हो. इस हंगामे के बीच भीड़ भी हमलावरों के साथ शामिल हो गई और हंगामा हो गया.

गुप्ता ने बताया कि तीनों कश्मीरी नांगलोई स्टेशन पर उतर गए और दो लाख रूपये मूल्य के शॉल और सूटों से भरा अपना बैग ट्रेन में छोड़ गए। उन्होंने बताया कि मामला दर्ज कर इसकी जांच की जा रही है। कश्मीरियों ने बताया कि वे पिछले साल दिसंबर में दिल्ली आए थे और सराय रोहिल्ला में रह रहे हैं। वे पिछले दस सालों से यहां व्यापार करने के लिए आ रहे हैं।

उन्होंने दावा किया, ‘‘करीब 15-20 अन्य लोग भी उनके साथ शामिल हो गए और बेल्ट से कश्मीरी लोगों की पिटाई की। ये घटना तब हुई जब ट्रेन मंगोलपुरी पार कर रही थी। इनमें से एक कश्मीरी के सिर में गंभीर चोट आई और दूसरे के चेहरे पर जख्म है।’’ पुलिस ने बताया कि हमलावरों की अभी तक पहचान नहीं हो सकी है। ये स्पष्ट नहीं हो सका है कि क्या वो सशस्त्र बलों से थे ,क्योंकि उन्होंनें सादे कपड़े पहन रखे थे।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.