भारत आए फ्रांस के राजदूत का राफेल डील पर बड़ा खुलासा

राफेल डील एक ऐसा मामला है जिसे लेकर कांग्रेस बीजेपी पर हमेशा से आरोप लगाती रहती है। देश में राफेल डील एक ऐसा सियासी मुद्दा बन चुका है जिसे उठाकर विपक्ष के द्वारा बीजेपी का घेराव किया जाता है। इसे लेकर कभी देश के किसी नेता या मंत्री के द्वारा बयान जारी किया जाता है तो कभी फ्रांस की तरफ से डील को लेकर बात रखी जाती है।

इस बार भी फ्रांस के राजदूत एलेक्जेंडर जिगलर ने डील को लेकर अपनी बात रखी है। भारत आए जिगलर ने दो टूक में कहा कि “इस मुद्दे पर मेरा जवाब बहुत छोटा-सा है। आप सिर्फ तथ्यों को देखिए लोगों के ट्वीट्स को नहीं।” भारत और फ्रांस के बीच विश्वास और सहयोग पर बात करते हुए उन्होंने आगे कहा कि “राफेल सौदे में घोटाला नहीं हुआ है। केवल तथ्यों पर ध्यान दें, क्या घोटाला? केवल तथ्य देखें न कि ट्वीट्स, यही मेरी सिफारिश है। इसमें कोई घोटाला नहीं हुआ है।”

फ्रेंच टेक कम्यूनिटी को लॉन्च के दौरान उन्होंने कहा कि “ट्रैक रिकॉर्ड को देखें, उस विश्वास को देखें जो दोनों देशों के बीच एयरोनॉटिक्स में बनाया गया है।” उन्होंने कहा कि फ्रांस के बड़े निवेशक भारत में काफी समय ने इनवेस्ट कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि “हमने भारत के साथ लंबे समय से सहयोग किया है। एयरबस, थाल्स, दसॉल्ट जैसी कंपनियां इस देश में सोर्सिंग कर रही हैं। तकनीक का हस्तांतरण दशकों से हो रहा है। हमने मेक इन इंडिया के लॉन्च होने की प्रतिक्षा नहीं की है।”

दरसअल, राफेल मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हमेशा ही पीएम मोदी पर हमला जारी रखते हैं। उनका कहना है कि सरकार 1670 करोड़ रुपये प्रति राफेल की दर से विमान खरीद रही है जो की पिछली सरकार में सौदे की कीमत 526 करोड़ रुपये तय थी। मिजोरम में चुनावी सभा में भी उन्होंने पीएम पर रिलायंस कंपनी के अनिल अंबानी को मदद पहुंचाने का आरोप लगाया। राहुल ने पीएम पर आरोप लगाया कि अनिल अंबानी को मदद करते हुए 30 हजार करोड़ रुपये दिए गए।

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.