fbpx
Advertisements

ऑफिस में गलत तरीके से बैठने से हो सकती हैं ये परेशानियां

पूरे दिन ऑफिस में गलत मुद्रा में लगातार 4-5 घंटे तक बैठे रहने से कमर दर्द की समस्या हो सकती है। इसलिए बैठने की मुद्रा पर और अपनी शारीरिक गतिविधि पर अच्छे से ध्यान दें। ये आपके लिए बहुत ही आवश्यक है। हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया (HCFI) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल का ये कहना है कि आज के समय में करीब 20 फीसदी युवाओं को 16 से 34 वर्ष में ही पीठ में और रीढ़ की हड्डी में प्रॉबलम हो रही है।

आपको बता दें कि डॉ. के.के. अग्रवाल का कहना है कि ‘एक ही स्थिति में लंबे समय तक बैठने से पीठ की मांसपेशियों और रीढ़ की हड्डी पर भारी दबाव पड़ सकता है। इसके अलावा, टेढ़े होकर बैठने से रीढ़ की हड्डी के जोड़ खराब हो सकते हैं और रीढ़ की हड्डी की डिस्क पीठ और गर्दन में दर्द का कारण बन सकती है। लंबे समय तक खड़े रहने से भी स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है।’

उन्होंने कहा है कि ‘शरीर को सीधा रखने के लिए बहुत सारी मांसपेशियों की ताकत की आवश्यकता होती है। लंबे समय तक खड़े रहने से पैरों में रक्त की मात्रा बढ़ जाती है और रक्त के प्रवाह में रुकावट आती है। इससे थकान, पीठ और गर्दन की मांसपेशियों में दर्द की शुरुआत हो सकती है।’ आपको पीठ और रीढ़ की हड्डी की समस्याओं के लक्षणों के बारे में बता दें। इसमें पैर के नीचे और घुटनों में दर्द बुखार, वजन घटना, पीठ में सूजन, और जननांगों की त्वचा का सुन्न पड़ जाना आदि लक्षण शामिल हैं।

इसके अलावा डॉ. के.के. अग्रवाल ने बताया है कि ‘योग पुरानी पीठ दर्द के लिए एक सुरक्षित और प्रभावी उपाय है, क्योंकि यह कार्यात्मक विकलांगता को कम करता है। यह इस स्थिति के साथ गंभीर दर्द को कम करने में भी प्रभावी है। यदि आप सुबह उठते हैं या कुछ घंटे के लिए अपनी डेस्क पर बैठे होने पर थकान या दर्द का अनुभव करते हैं, तो यह संकेत हो सकता है कि आपकी मुद्रा सही नहीं है।’

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: