fbpx

PM Modi 23 फरवरी को कर सकते हैं जेवर एयर पोर्ट का शिलान्यास

केंद्रीय पर्यटन मंत्री महेश शर्मा ने शनिवार को कहा कि लंबे समय से प्रतिक्षारत जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jewar International Airport)  का निर्माण जल्द ही शुरु हो जाएगा। उन्होंने कहा कि 23 फरवरी को एक समारोह के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसका शिलान्यास करेंगे। शर्मा ने कहा कि करीब पांच हजार हेक्टेयर में बनने वाला जेवर एयरपोर्ट उप्र के विकास में मील का पत्थर साबित होगा।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि वर्तमान समय में गुरुग्राम साइबर सिटी के रूप में जाना जाता है। इसकी एक वजह सिर्फ एयरपोर्ट से उसकी नजदीकी है। ऐसे में जेवर एयरपोर्ट जनपद के साथ पूरे पश्चिमी यूपी के लिए विकास के नजरिए से मील का पत्थर साबित होगा। यही नहीं जेवर एयरपोर्ट (Jewar International Airport) के बनने के बाद 40 विदेशी कंपनियों ने जेवर क्षेत्र में कार्यालय एवं फैक्ट्री खोलने के लिए सरकार से जमीन मांगी है।

उन्होंने कहा कि जेवर हवाई अड्डा (Jewar International Airport) बनने से एक लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। महेश शर्मा ने बताया कि जेवर एयरपोर्ट देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा। दिल्ली का हवाई अड्डा 24 सौ हेक्टेयर में है जबकि मुंबई का हवाई अड्डा 14 सौ हेक्टेयर में है।

 

दिल्ली के आजीआइ एयरपोर्ट से दोगुना होगी क्षमता
इंदिरा गांधी एयरपोर्ट (आइजीआइ) क्षेत्रफल के लिहाज से जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से काफी पीछे रह जाएगा। आइजीआइ का क्षेत्रफल 2066 हेक्टेयर है तो नवी मुंबई में बनने जा रहे एयरपोर्ट का क्षेत्रफल भी 2320 हेक्टेयर है, जबकि जेवर में प्रस्तावित एयरपोर्ट पांच हजार हेक्टेयर में बनेगा। जेवर में प्रस्तावित एयरपाेर्ट की क्षमता भी दिल्ली से दाेगुनी हाेगी। अभी एयरपाेर्ट की क्षमता प्रतिवर्ष 3.5 कराेड़ यात्रियाें की हाेगी। यहां एयर कार्गाे हब भी बनाया जाएगा। इस एयरपाेर्ट से माल ढुलाई पर खासताैर पर जाेर हाेगा।

क्षेत्रफल के आधार पर जेवर से बड़े विश्व के एयरपाेर्ट

  • किंग फहद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (सऊदी अरब) – 77600 हेक्टेयर
  • डेनवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (संयुक्त राज्य अमेरिका) – 13, 571 हेक्टेयर
  • डलास / फोर्ट वर्थ अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (संयुक्त राज्य अमेरिका) – 6963 हेक्टेयर
  • ऑरलैंडो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (संयुक्त राज्य अमेरिका) – 5383 हेक्टेयर
  • चीन के शंघाई, अमेरिका के वाशिंगटन अाैर फ्रांस के पेरिस से बड़ा
  • वाशिंगटन डुलल्स अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (संयुक्त राज्य अमेरिका) )- 4856 हेक्टेयर
  • शंघाई पुडोंग अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा (शंघाई, चीन) – 3,988 हेक्टेयर
  • पेरिस चार्ल्स डी गॉल हवाई अड्डा (पेरिस, फ्रांस) – 3237 हेक्टेयर
  • यात्रियाें के हिसाब से दुनिया के दाे बड़े एयरपाेर्ट
  • अमेरिका का अटलांटा एयरपाेर्ट – 10. 41 कराेड़ यात्री प्रतिवर्ष
  • चीन का बिजिंग एयरपाेर्ट – 9. 43 कराेड़ यात्री प्रतिवर्ष

कनेक्टिविटी के मामले में भी होगा बेजोड़

जेवर एयरपोर्ट की कनेक्टिविटी भी बेजोड़ होगी। ग्रेटर नोएडा से जेवर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट को मेट्रो और पॉड से जोड़ने की भी योजना है। दो ओर से यमुना एक्सप्रेस वे और पलवल खुर्जा एक्सप्रेस वे से जुड़ा होगा। अन्य दो साइट में 130 मीटर सड़क व सौ मीटर चौड़ी सड़क से कनेक्टिविटी दी जाएगी। इससे यात्रियों को एयरपोर्ट पहुंचने किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.