fbpx
Advertisements

राज ठाकरे पर बिहार के मुजफ्फरपुर में केस दर्ज, हिंदी भाषा का अपमान करने का आरोप

महाराष्ट्र नव निर्माण सेना (मनसे) प्रमुख [ps2id url='https://en.m.wikipedia.org/wiki/Raj_Thackeray' offset='' class='']राज ठाकरे[/ps2id] के विरुद्ध सोमवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) आरती कुमारी सिंह की कोर्ट में परिवाद दाखिल किया गया। यह परिवाद अहियापुर थाना के भीखनपुर निवासी हक-ए-हिंदुस्तानी मोर्चा के राष्ट्रीय संयोजक व सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने दाखिल किया है। इसमें उनपर हिंदी भाषा का अपमान करने का आरोप लगाया गया है। सीजेएम ने परिवाद को सुनवाई पर रखा है। परिवाद में तमन्ना हाशमी ने कहा है कि दो दिसंबर को विभिन्न टीवी चैनलों पर एक कार्यक्रम का प्रसारण किया जा रहा था। इसमें राज ठाकरे को हिंदी भाषा के प्रति अपशब्द का प्रयोग करते दिखाया जा रहा था। यह हिंदी भाषा व देश के लोगों का अपमान करने वाला था। एक हिंदी भाषी होने के कारण इससे उसकी भावना आहत हुई।केस होने को लेकर मुम्बई में रह रहे फिल्म निर्माता नीतिन नीरा चंद्रा ने कहा-मुजफ्फरपुर में कुछ वकील भावनात्मक रूप से आहत हैं क्योंकि राज ठाकरे ने कहा कि हिंदी राष्ट्रीय भाषा नहीं है । Off course raj ठाकरे सही है । हिंदी कभी राष्ट्रीय भाषा नहीं थी और कभी नहीं होने वाली है । संविधान ने हिन्दी को राष्ट्रीय भाषा माना है । दूसरे हाथ में जब ये लोग बिहार में बैठे हैं और बाहर कई बिहारियों को अपनी अपनी भाषाओं के लिए भावनात्मक रूप से चोट मिलेगी। Bajjika loukta भोजपुरी मैथिली मगही भाषाएँ? बिहार के लोगों ने अभी तक यह एहसास किया है कि बिहार में हिन्दी आरोपण ने अपने सामाजिक आर्थिक सांस्कृतिक कपड़ा को पूरी तरह तबाह कर दिया है. बिहारी पहचान राष्ट्रीय मंच पर धूल चाट रही है ।आम जनता के लिए हमारे पास कोई साहित्य सिनेमा या संगीत नहीं है । इस हिंदी atuljohri को बाहर आओ और अपनी मातृभाषा के बाद देखो । अब उच्च समय है. हिन्दी न तो आपकी राष्ट्रीय भाषा है और न ही आपकी मातृ भाषा है । यह केवल कुछ उत्तर भारतीय राज्यों द्वारा अपनायी गई भाषा है क्योंकि उनकी अपनी भाषाओं को हिंदी प्रचारात्मक द्वारा मारा गया था और हिन्दी सरकारी कार्य के लिए है इसीलिए इसे राज-भाषा कहते हैं और rashtrabhasha नहीं । अपनी मातृभाषा को हिंदी या किसी अन्य भाषा के लिए मत मारो

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: