fbpx
Advertisements

भारतीय टीम के ऐतिहासिक सीरीज जीतने के बाद कोई नकद पुरस्कार नहीं, सुनील गावस्कर ने बताया शर्मनाक,उठाए बड़े सवाल

Sunil Gavaskar questions no prize money to Team India after ODI triumph: सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने ऑस्ट्रेलिया को इस बात के लिए लताड़ा कि उसने भारतीय टीम के ऐतिहासिक सीरीज जीतने के बाद कोई नकद पुरस्कार की घोषणा नहीं की.

पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने मेजबान ऑस्ट्रेलिया को इस बात के लिए लताड़ा कि बोर्ड ने भारतीय टीम के ऐतिहासिक सीरीज जीतने के बाद कोई नकद पुरस्कार की घोषणा नहीं की. उन्होंने कहा कि खिलाड़ी उस राजस्व के हिस्सेदार हैं, जिससे बनाने में मदद करते हैं. भारत ने ऑस्ट्रेलिया में उसको पहली बार द्विपक्षीय वनडे सीरीज में 2-1 से हराया. ‘मैन ऑफ द मैच’ युजवेंद्र चहल और ‘मैन ऑफ द सीरीज’ महेंद्र सिंह धोनी को मैच के बाद 500-500 डॉलर (करीब 35-35 हजार रुपये) दिए गए.

खिलाड़ियों ने यह इनामी राशि दान में दे दी. टीम को पूर्व बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने महज विजेता ट्रॉफी प्रदान की. गावस्कर ने मेजबानों की आलोचना की कि उन्हें कोई नकद पुरस्कार नहीं दिया गया. गावस्कर ने ‘सोनी सिक्स’ से कहा, ‘500 डालर क्या है, यह शर्मनाक है कि टीम को सिर्फ एक ट्रॉफी मिली. वे (आयोजक) प्रसारण अधिकारों से इतनी राशि अर्जित करते हैं. वे खिलाड़ियों को अच्छी इनामी राशि क्यों नहीं दे सकते? आखिरकार खिलाड़ी ही खेल को इतनी राशि (प्रायोजकों से) दिलाते हैं.’

गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने कहा, ‘विम्बलडन चैम्पियनशिप में दी जाने वाली राशि को देखिए.’ आपको बता दें कि भारत ने युजवेंद्र चहल की फिरकी के कमाल के बाद ‘मैच फिनिशर’ महेंद्र सिंह धोनी और केदार जाधव के बीच चौथे विकेट के लिए नाबाद 121 रन की भागीदारी से शुक्रवार को तीसरे और अंतिम वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज 2-1 से अपने नाम की. टेस्ट मैचों की सीरीज जीतकर इतिहास रचने वाली भारतीय टीम ने वनडे सीरीज में भी जीत हासिल की, इससे पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज 1-1 से बराबर रही थी. विराट कोहली की टीम ने इस तरह ऑस्ट्रेलिया में एक भी सीरीज नहीं गंवाई और यह श्रेय हासिल करने वाली वह पहली टीम बन गई.

इसमें ‘मैन ऑफ द सीरीज’ धोनी रहे जिन्होंने दूसरे वनडे में भी अंत में छक्का लगाकर मैच में जीत दिलाई और अपने आलोचकों को चुप कराया. ‘मैन आफ द मैच’ लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल (42 रन पर छह विकेट) की फिरकी के जादू से भारत ने आस्ट्रेलिया को 48.4 ओवर में 230 रन पर आउट कर दिया. फिर ‘फिनिशर’ की भूमिका बखूबी निभाते हुए धोनी ने ऑस्ट्रेलिया की क्षेत्ररक्षण की चूक का फायदा उठाते हुए वनडे में 70वीं अर्धशतकीय पारी खेली और जाधव के साथ नाबाद शतकीय साझेदारी से भारत ने यह लक्ष्य 49.2 ओवर में तीन विकेट पर 234 रन बनाकर हासिल कर लिया. धोनी ने 114 गेंद खेलते हुए छह चौके की मदद से नाबाद 87 रन की पारी खेली जबकि जाधव ने 57 गेंद में सात चौके से नाबाद 61 रन बनाए. 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: