भाजपा नेता और वकील अश्वनी शर्मा ने देश के सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर कर मांग की थी कि देश में जिन 8 प्रदेशों में हिन्दुओं की संख्या कम या बहुत कम है, वहां हिन्दुओं को अल्पसंख्यक का दर्जा दिया जाए ताकि हिन्दू भी अन्य अल्पसंख्यकों की तरह सुविधाओं का लाभ ले सकें। उपाध्याय ने