बिना मान्यता के चल रहे स्कूलों पर कब लगेगी लगाम ।


                                                                             

राजधानी लखनऊ में बेलगाम सरपट तरीके से दौर रहे फर्जी स्कूलों पर कब तक मेहरबान रहेगा शिक्षा विभाग । जबकी मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने सत्ता सम्हालते ही फर्जी स्कूलों पर लगाम लगाने के लिए तमाम आदेश दिये थे मगर मुख्यमंत्री के आदेश बेमानी साबित हुये। और बिना मान्यता व बिना मानकों के स्कूल धङल्ले से चल रहे हैं।

Lucknow News : राजधानी लखनऊ के प्रत्येक हिस्सों में घर घर स्कूल खुल गये है। इन स्कूलों में अधिकांश स्कूल ऐसे है जहां न मानक है और न मान्यता बावजूद इसके ये अवैध स्कूल खुलेआम धङल्ले से चल रहे है।

शिक्षा जैसे क्षेत्र में भ्रष्टाचार चरम पर होना सरकार की मंशा को बताता है। आज जिन अधिकारियों पर इस बात की जिम्मेदारी है की वो फर्जी स्कूलों पर लगाम लगाये वही अधिकारी आज मोटी रकम लेकर बिना मानकों व बिना मान्यता के स्कूलों को चलने का खुला लाइसेंस उपलब्ध करा रहे है।

तमाम स्कूल तो ऐसे है जिनकी एक ब्रान्च की मान्यता है और उसके बल पर ही कई स्कूल और चला रहे है।राजधानी के कॢई नामी स्कूल एक ही मान्यता पर कई कई स्कूल चला रहे है। आईआईऐम रोड स्थित सेन्ट कोलम्बस,बुध्देश्वर रिंग रोड पर सेन्ट मेरी पब्लिक स्कूल, नवीन पब्लिक स्कूल क्रष्णा नगर,सेन्ट्रल एकेडेमी आशियाना,सेन्ट्रल पब्लिक स्कूल घुरघुरी तालाब मोहान रोड व राजाजीपुरम,घुरघुरी तालाब पर ही टीआर पब्लिक स्कूल, स्वामी विवेकानंद स्कूल,  ये वो स्कूल है जो एक की मान्यता पर ही दूसरा स्कूल भी चला रहे है।

अगर प्रशासन ने इन फर्जी स्कूलों पर लगाम नहीं लगाई तो जल्दी ही पूरे शहर में कुकुरमुत्तों की तरह फर्जी स्कूल खुल जायेंगे और नौनिहालों के भविष्य को अंधकार में धकेल देंगे।

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.